International Journal of Multidisciplinary Research and Development


E- ISSN: 2349-4182
P- ISSN: 2349-5979

Vol. 4, Issue 3 (2017)

भारत और आसियान

Author(s): Mamta Jangir
Abstract: दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्र संघ यानी आसियान 8 अगस्त 1967 को बना 10 राष्ट्रों का समूह है। पिछले दो दशकों में आसियान-भारत संबंधों ने कई मुकाम हासिल किये है। भारत अपनी विदेश नीति में ‘लुक ईस्ट’ विदेश नीति का पहला पड़ाव पार करते हुए ‘एक्ट एशिया’ विदेश नीति के पड़़ाव में प्रवेश कर चुका है, ‘एक्ट एशिया’ नीति स्वतंत्रता के बाद की सबसे सफल विदेश नीति की अवधारणा बन गयी है। वर्ष 1992 में भारत आसियान का ‘सेक्टरल डायलाॅग पार्टनर और 1996 में पूर्ण डायलाॅग पार्टनर बना। भारत 2005 में पूर्व एशिया सम्मेलन में शामिल हुआ। दोनों पक्षों ने 2012 में सामरिक सयोग समझौते पर हस्ताक्षर किया। अब आसियान और भारत सिर्फ सामरिक सहयोगी ही नहीं है बल्कि उन्होनें आपसी व्यापार को भी कई गुणा बढ़या है। आसियान के 10 देश और उसके छह सहयोगी चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, आॅस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और भारत एक क्षेत्रीय मुक्त व्यापार समझौते को हकीकत बनाने के दिशा में साथ मिल कर काम कर रहे है। भारत के चीन समेत अन्य देशों के साथ आगे बढ़ने से इस समझौते की सफलता इस क्षेत्र में आपसी सहयोग को संघन बनायेगी।
Pages: 256-258  |  5903 Views  1225 Downloads
library subscription